Posts

Showing posts with the label My thoughts

learn to compromise with yourself

Image
 अपनों के साथ हमेशा *समझौता करना सीखिए* । क्योंकि थोड़ा सा झुक जाना किसी भी रिश्ते को हमेशा के लिए तोड देने से ज्यादा बेहतर है। www.mohitbhatiadvocate.com 

learn to compromise with yourself

Image
 अपनों के साथ हमेशा *समझौता करना सीखिए* । क्योंकि थोड़ा सा झुक जाना किसी भी रिश्ते को हमेशा के लिए तोड देने से ज्यादा बेहतर है। www.mohitbhatiadvocate.com 

Don't let the enemy of ego grow inside you

Image
एक अहंकारी और शरारती तत्व ने पूछा कि आपको क्या लगता है मैं एक कामयाब इन्सान नहीं हूँ? जब तक तुम बड़ों का सम्मान और छोटो से प्यार नहीं करोगे और तुम्हारे साथ उनकी दुआएं नहीं रहेंगी तब तक तुम कामयाब नहीं हो सकते। दुआओं का भी हमारी सफलता में विशेष योगदान रहता है। मैं पूछता हूँ कि आखिर तुम ऐसी कामयाबी का करोगे क्या जिसका जश्न मनाने के लिए तुम्हारे साथ कोई ना हो। समाज में बहुत सारे ऐसे लोग होते हैं जिनका एटीट्यूड नेगेटिव होता है और वे नेगेटिव एटीट्यूड के साथ ही आगे बढ़ना चाहते है लेकिन नेगेटिव एटीट्यूड के साथ कोई भी सफल नहीं होता, आगे नहीं बढ़ सकता और यदि ऐसा होता भी है तो वह अपने लिए और समाज के लिए दोनों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। मनुष्य जब छोटा बच्चा होता है तब वह मात-पिता, भाई-बहन और अपने परिवार के सदस्यो के बिना रह नहीं पाता है, अपनी जरूरत की हर चीज के लिए उन पर निर्भर रहता है लेकिन जैसे-जैसे वह थोड़ा बड़ा होने लगता है,उसके आकार-विकार, आचार -विचार और आहार-विहार में धीरे-धीरे परिवर्तन होने लगता है। उसके अंदर अहंकार के तत्व जन्म लेने लगते है। मनुष्य एक अति स्वार्थी प्राणी है और व

बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा का वैक्सीन पर यह खुलासा आपके होश उडा देगा।

Image
देश के चौकीदार ने वैक्सीन के नाम पर बहुत बडा खेल खेला, जहां एक तरफ देश को विश्व गुरु बनाने का सपना दिखाया वहीं आज दुनिया हम पर हंस रही है। देश के चौकीदार ने पूरी मानवता को एक बार फिर शर्मसार कर दिया है। जब दुनिया के विकसित देश अपने लोगों को बचाने के लिए वैक्सीन की तकनीक और उत्पादन पर पैसा खर्च कर रहे थे वहीं दूसरी तरफ हिंदुस्तान में देश की दो कोरोना की टीका बनाने वाली कंपनियों क्रमश: भारत बायोटेक और सिरम इंस्टीट्यूट पर हिंदुस्तान ने कोई पैसा खर्च नहीं किया। एक तरफ तो मोदी जी स्वदेशी वैक्सीन का दुनिया भर में ढिंढोरा पीट रहे थे और वहीं दूसरी तरफ 80% से भी ज्यादा वैक्सीन की डोज कॉन्ट्रैक्ट के तहत इन दोनों कंपनीयों द्वारा विदेशों में भेजी जा रही थी। जबकि देश के प्रधानमंत्री द्वारा यह प्रचार किया जा रहा था कि मानवता की भलाई के लिए, विदेशियों की मदद के लिए यह वैक्सीन हिंदुस्तान सरकार द्वारा भेजी जा रही है। RSS प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि हम कोरोना की तीसरी लहर के लिए तैयार है  अमेरिका और इंग्लैंड जैसे देशों ने अपने देश में वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों से पहले ही यह कांट्रैक्ट कर लिया था कि